10 आदतें जो दिमाग कमजोर करती हैं : 10 bad habits that damage your brain,

10 आदतें जो दिमाग कमजोर करती हैं : 10 bad habits that damage your brain,

हर व्यक्ति अपने दिमाग को तेज व तंदुरुस्त बनाना चाहता है परंतु कुछ लोग दैनिक जीवन में कुछ ऐसी गलत आदतें अपना लेते हैं जिनके कारण दिन प्रतिदिन उनका दिमाग कमजोर होता चला जाता है उनकी याददाश्त में कमी आ जाती है वह छोटी-छोटी बात को बहुत जल्दी भूलना शुरू कर देते हैं-

अल्जाइमर और डिमेंशिया जैसी दिमाग की बीमारियां पास आने लगती है इसके साथ ही उनके स्वभाव में चिड़चिड़ापन भी आ जाता है। 

आइए जानते हैं वह 10 गलत आदतें जिनकी वजह से दिमाग कमजोर हो जाता हैं -

( 1 ) देर रात तक जगना - 

कुछ लोग देर रात तक मोबाइल या लैपटॉप चलाते रहते हैं इससे उनके दिमाग पर काफी बोझ पड़ता है और धीरे-धीरे कमजोर होने लग जाता है, अगर आप देर रात तक चैटिंग करते हैं तो इसका सीधा प्रभाव आपके दिमाग पर पड़ सकता है। 

( 2 ) धूम्रपान करना - 

धूम्रपान आपके जीवन को कम करता है साथ ही आपके दिमाग को भी कमजोर बनाता है, मेक्किल यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि स्मोकिंग से कॉर्टेक्स पर असर पड़ता है जो आपकी याददाश्त शक्ति और लैंग्वेज स्किल के लिए खतरनाक है।

( 3 ) नाश्ता नहीं लेना -

दोस्तों ऑफिस या स्कूल पहुंचने और जल्दी-जल्दी काम निपटाने के चक्कर में नाश्ता नहीं करने की आदत बहुत हानिकारक है, ब्रेकफास्ट से हमारी दिन की शुरुआत होती है और इससे छोड़ देने से आपके शरीर में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो सकती है।

जैसे याददाश्त कमजोर होना, मोटापा, कमजोर इम्युनिटी, ब्लड शुगर आदि इन समस्याओं से बचने के लिए आपको नाश्ता जरूर लेना है जो प्रोटीन से भरपूर हो ताकि आप ऊर्जा से भरे रहें। 

( 4 ) पर्याप्त नींद ना लेना -

 स्वस्थ शरीर के लिए 6 से 8 घंटे की नींद लेना बहुत जरूरी है, हाल ही में एक शोध में बताया गया है कि जरूरत से ज्यादा या कम नींद के कारण मस्तिष्क की कोशिकाएं सिकुड़ने लगती है जिससे आपकी याददाश्त कमजोर होती है इसलिए पर्याप्त नींद लेना बहुत ही जरूरी है। 

( 5 ) तनाव लेना या कुछ भी गंभीरता से सोचना -

 जो लोग अपने दिमाग में छोटी-छोटी बातों को लेकर तनाव लेते हैं या किसी भी विषय को ज्यादा गंभीर होकर सोचते हैं उनका दिमाग धीरे-धीरे कमजोर होने लगता है- 

इसलिए अपने दिमाग को ज्यादा स्ट्रेस नहीं देनी है और चिंता मुक्त रहने की कोशिश करनी है क्योंकि जो होना है वह तो होकर रहेगा, अतः दिमाग को चिंता में रखने से कुछ भी हल निकलने वाला नहीं है,

( 6 ) रोजाना व्यायाम ना करना - 

दोस्तों रोजाना व्यायाम न करने से शरीर में आलस बढ़ता है और ऐसे में लोगों का दिमाग कम क्रिएटिव और कमजोर होता जाता है इसलिए हमें रोजाना व्यायाम करके अपने शरीर और दिमाग को स्वस्थ रखना है। 

( 7 ) जंक फूड का ज्यादा सेवन करना - 

जैसा कि आप सब जानते हैं कि आज की युवा पीढ़ी ज्यादातर जंक फूड खाती है घर का बना हुआ खाना इन्हें पसंद नहीं आता, एक्चुअली जंक में MSG नामक एडिटिव पाया जाता है, 

ऐसे में यह दिमाग के न्यूरॉन्स रिसेप्टर को नुकसान पहुंचाता है, ज्यादा मात्रा में जंक फूड खाने से सर दर्द, उल्टी और कन्फ्यूजन जैसी समस्याएं आम हो जाती है तो इसको तो आपको बाय-बाय करना ही होगा।

( 8 ) पानी कम पीना - 

कम पानी पीने वालों की तुलना में सही मात्रा में पानी पीने वालों का दिमाग 14% अच्छे से काम करता है, ऐसा कहा जाता है कि अगर आप किसी जरूरी काम से जा रहे हैं या किसी परीक्षा में बैठे हैं तो पहले पानी पी लीजिए क्योंकि इससे आप चीजें भूलते नहीं हैं पानी से दिमाग ज्यादा देर तक काम कर पाता है।

( 9 ) ईयर फोन से लगातार गाने सुनना - 

दोस्तों आपने कई सारे लोगों को ईयर फोन से तेज आवाज में गाने सुनते हुए देखा ही होगा,, लेकिन यह गलत है! 

कान में ईयर फोन लगाकर लगातार गाने नहीं सुनने चाहिए अगर सुनने भी है तो धीमी आवाज में सुनिए, तेज आवाज से कान तो खराब होगा ही साथ में ब्रेन टिशूज को भी नुकसान पहुँचता है और लगातार ऐसा करने से अल्जाइमर की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है।

( 10 ) अकेले रहने की आदत - 

कई लोगों की आदत होती है कि उन्हें लोगों का साथ पसंद नहीं आता है ऐसे में ज्यादा से ज्यादा समय अकेले ही बिताना पसंद करते हैं ऐसा होने से दिमाग पर बुरा असर पड़ता है जिससे डिप्रेशन में जाने के चांसेस बढ़ जाते हैं, 

दोस्तों यह कुछ बुरी आदतें मैंने बताई है आपको बस इनको छोड़ना है और एक बेहतर और स्वस्थ जीवन जीना है लेकिन यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि आप का दिमाग कैसे काम करता है।

अगर कोई भी लक्ष्य हासिल करना हो तो मस्तिष्क का सही रहना बहुत जरूरी है इसके लिए आपको खासकर अपने खान-पान पर बहुत ध्यान देना है क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है "धन्यवाद"


Previous
Next Post »