दृष्टि - परीक्षण ( Eye - sight Test ) कैसे किया जाता है ? How is the vision test done?

दृष्टि - परीक्षण ( Eye - sight Test ) कैसे किया जाता है ? 

दृष्टि - परीक्षण ( Eye - sight Test ) कैसे किया जाता है ? How is the vision test done?
Eye - sight Test

जब हम किसी वस्तु को देखते हैं तो उस वस्तु से आने वाली प्रकाश की किरणें हमारी आंखों की पुलियों से होती हुई रेटिना ( retina ) पर उस वस्तु का उलटा प्रतिबिम्ब बना देती हैं । यह प्रतिबिम्ब आंख में स्थित एक लेंस द्वारा निर्मित किया जाता है । यह प्रतिबिम्ब उलटा होता है । 

इसे सीधा करने का काम प्रकाश - तन्त्रिका ( optic nerve ) द्वारा किया जाता है । प्रकाश - तन्त्रिका विद्युत संदेशों के रूप में चित्र को मस्तिष्क तक ले जाती है , जहां यह सीधा होकर हमें दिखाई देता है । 

हमारी आंख का लेंस बहुत ही कोमल होता है । इसका नियंत्रण एक छोटे आकार की सीलियरी ( ciliary ) मांसपेशी से होता है । कुछ व्यक्तियों के विषय में ऐसा होता है कि वस्तु का प्रतिबिम्ब या तो रेटिना से पहले बन जाता है या रेटिना के पीछे बनता है । 

इन दोनों स्थितियों में वस्तु धुँधली दिखाई देने लगती है । ऐसी स्थिति में हम कहते हैं कि आंख में दृष्टिदोष उत्पन्न हो गया है । इस दोष से छुटकारा पाने के लिए आँखों के चश्मे प्रयोग में लाये जाते हैं । 

Eye - sight Test
Eye export Check the eye

ये चश्मे दो प्रकार के होते हैं । पहले प्रकार के चश्मे उनके लिए होते हैं , जिन्हें दूर की वस्तुएं साफ दिखाई नहीं देतीं । ऐसा आमतौर पर विद्यार्थियों के साथ होता है । 

दूसरे प्रकार के चश्मे उनके लिए हैं , जिन्हें पास की वस्तएं स्पष्ट दिखाई नहीं देती । इन दोनों ही प्रकार के चश्मों के लिए किसी नेत्र - विशेषज्ञ के पास जाना पड़ता है , जो आँखों का परीक्षण करके चश्मे का नम्बर बताता है । 

आंखों के परीक्षण के लिए नेत्र - विशेषज्ञ एक चार्ट का प्रयोग करता है , जिस पर विभिन्न आकारों में विभिन्न अक्षर लिखे होते हैं । इन अक्षरों के नीचे 6 / 36,6 / 24,6 / 18,6 / 12,6 / 9.6 / 6 तथा 6/5 आदि अंक लिखे होते हैं । ( हो सकता है इन नंबर की जगह डॉक्टर कोई अल्फाबेक्टिक( ABCD exectra,,) चार्ट प्रयोग में लाये,,,इन दोनों चार्टों के परिणाम एक समान होते है ) ।

डाक्टर रोगी से यह चार्ट पढ़वाता है और रोगी जिस नम्बर तक पढ़ लेता है , उसकी आस की दृष्टि उसी नम्बर में प्रदर्शित कर दी जाती है । इन सभी अक्षरों में ऊपर की संख्या छह होती है । 

इसका अर्थ है कि आँख से इस चार्ट की दूरी छह मीटर अर्थात् 20 फुट होनी चाहिए । यदि किसी व्यक्ति की दृष्टि 6/12 है तो इसका अर्थ है कि इस आकार के अक्षर को वह व्यक्ति केवल छह मीटर की दूरी तक ही पढ़ सकता है , जबकि सामान्य दृष्टि वाला व्यक्ति इस अक्षर को 12 मीटर की दूरी तक पढ़ सकता है । 

इसी प्रकार 6/36 का अर्थ है कि सामान्य दृष्टि वाला व्यक्ति इस अक्षर को 36 मीटर की दूरी से पढ़ सकता है , जबकि नेत्र - दोष वाला व्यक्ति इसे केवल 6 मीटर की दूरी से ही पढ़ सकता है । 

दृष्टि - परीक्षण ( Eye - sight Test ) कैसे किया जाता है ? How is the vision test done?
Lens Types

इस प्रकार नेत्र - परीक्षण करके विशेषज्ञ चश्मे का नम्बर देता है । उदाहरण के लिए यदि किसी व्यक्ति के चश्मे का नम्बर -2 डी है तो इसका अर्थ है कि उस व्यक्ति को दूर की वस्तु स्पष्ट दिखाई नहीं देती अर्थात् उसे अवतल ( concave ) लेंस चाहिए । 

इसी प्रकार जिस व्यक्ति का नम्बर + में है , उसे पास की वस्तु स्पष्ट दिखाई नहीं देती । उसे उत्तल ( convex ) लेंस चाहिए । ' डी ' अक्षर लेंस की शक्ति को प्रदर्शित करता है । इसका ' डाइऑप्टर ' ( dioptre- मीटरों में फोकस से दूरी ) शब्द के लिए प्रयोग किया जाता है । 

दो डाइऑप्टर का अर्थ है - लेंस की फोकस दूरी 50 सेमी . होनी चाहिए । -2 डी का अर्थ है कि उस व्यक्ति को 50 सेमी . फोकस दूरी का अवतल लेंस चाहिए । 

इसी तरह +2 डाइऑप्टर का अर्थ है कि उस व्यक्ति को 50 सेमी . फोकस दूरी का उत्तल लेंस चाहिए । इसी नम्बर के आधार पर चश्मा - निर्माता सही प्रकार के चश्मों का निर्माण करते हैं । 

यदि किसी व्यक्ति को दूर या पास की वस्तु स्पष्ट दिखाई नहीं देती तो उसे आंखों का परीक्षण कराने में कोई हिचकिचाहट नहीं होनी चाहिए और जल्दी ही सही प्रकार के चश्मे का प्रयोग करना आरम्भ कर देना चाहिए ।

चश्मे के प्रयोग में विलम्ब करने से दृष्टि और भी कमजोर होती जाती है और चश्मे का नम्बर उत्तरोत्तर बढ़ता ही जाता है ।


List of more General Knowledge ( GK ) ~ 

- सभी की उंगलियों के निशान एक से क्यों नहीं होते ?

- हमें सपने क्यों दिखाई देते हैं ?

ऐसे ही अन्य विषयों की रोचक जानकारी के लिए Infarmo.com में विजिट करें ।

Infarmo.com के कुछ प्रमुख पेजेस - 

- मरने के बाद भी आदमी के बाल क्यों बढ़ते रहते हैं ?

- मुर्दा पानी पर क्यों तैरता है ?

- एक्यूपंक्चर ( Acupuncture ) चिकित्सा प्रणाली क्या है?

- टेलीविज़न अंधेरे में तथा नजदीक बैठकर क्यों नहीं देखना चाहिए ?

- कैलोरी ( Calorie ) क्या है और इसे कैसे मापते हैं ? 

- दृष्टि - परीक्षण ( Eye - sight Test ) कैसे किया जाता है ?

- जाड़ों में हमारे हाथ और ओंठ क्यों फट जाते हैं ? 

- वंशानुगत ( Hereditary ) रोग क्या है ? 

- दाद ( Ring - worm ) क्यों हो जाता है ?

- आंख पर चोट लगने से हमें तारे क्यों दिखने लगते हैं ?

- क्या हमारे शरीर में भी कोई घड़ी है ?

- आनुवंशिकी ( Genetics ) क्या है ?

- मेनिंजाइटिस का रोग क्या है ?

- पेसमेकर ( Pacemaker ) हृदय की धड़कन कैसे नियंत्रित करता है ? 

- हमें डकार क्यों आती है ?

- कैट स्कैनर ( Cat Scanner ) क्या है ?

- चेतना क्या है ? 

- शरीर में कोशिकाएं , ऊतक , अंग और तंत्रिका कैसे बनते हैं?  

- क्या हर व्यक्ति के शरीर से एक विशेष गन्ध आती है ?

- दर्द का पता कैसे चलता है ?

- कृत्रिम गर्भाधान ( Artificial Insemination ) क्या है ?

- शरीर के किन अंगों को प्रत्यारोपित ( Transplant ) किया जा सकता है ?

- इन्फ्लुएंजा ( Influenza ) कैसे हो जाता है ?

- हमारे शरीर में खुजली क्यों होती है ? 

- एपेनडिसाइटिस ( Appendicitis ) क्या है ? 

- हमारे शरीर के लिए कौन - से पदार्थ ईंधन का काम करते हैं ?

- इलेक्ट्रोमायोग्राम ( Electromyogram ) क्या होता है ? 

- इलेक्ट्रोरेटिनोग्राम ( Electro - retinogram ) क्या है ?

- पेंक्रिआस ( Pancreas ) शरीर में क्या काम करते हैं ?

- फ्ल्यूराइड ( Fluoride ) से हमारे दांत कैसे मजबूत हो जाते हैं ?

- अधिक कोलेस्ट्रॉल ( Cholesterol ) क्यों हानिकारक है ?

- क्या मनुष्य के शरीर में बिजली पैदा होती है ?

- क्या हम कई बार जन्म लेते हैं ? 

- सन्धिवात ( Arthritis ) रोग क्या है ?


और भी जाने  ~

Human - Body ( Chapter ~ 1 )  

Human - Body ( Chapter ~ 3 ) 

Human - Body ( Chapter ~ 4 )  



Previous
Next Post »