कैट स्कैनर ( Cat Scanner ) क्या है ? What is a Cat Scanner?

कैट स्कैनर ( Cat Scanner ) क्या है ? 

कैट स्कैनर ( Cat Scanner ) क्या है ? What is a Cat Scanner?
Cat ( CT ) Scanner ( Head Scanner )

कैट स्कैनर रोगनिदान ( diagnosis ) का एक आधुनिकतम तरीका है । यह वास्तव में एक्स - किरणों द्वारा जांच करने की प्रणाली का ही एक अत्यन्त विकसित रूप है , जिसके द्वारा मस्तिष्क , गुर्दे , जिगर , पेट आदि की बीमारियों का पता लगाया जा सकता है । 

कैट शब्द अंग्रेजी के तीन अक्षरों - सी , ए और टी से मिलकर बना है । ये तीनों - कम्प्यूटराइज्ड एक्सिअल टोमोग्राफी ( computerized axial tomography ) के प्रथम अक्षर हैं । 

कैट स्कैनर का आविष्कार सन् 1972 में ब्रिटेन के इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर गोडफ्रे हाउसफील्ड और अमरीकी भौतिकशास्त्री एल.एन. कारमेक ने किया था । इस आविष्कार के लिए इन दोनों को संयक्त रूप से सन् 1979 का चिकित्सा - विज्ञान का नोबेल परस्कार दिया गया था । 

हैड स्कैनर ( headscanner ) और बॉडी स्कैनर ( body scanner )
Full body scanner( MRI ) , by - Ptrump16

कैट स्कैनर दो प्रकार के होते हैं - हैड स्कैनर ( headscanner ) और बॉडी स्कैनर ( body scanner ) । हैड स्कैनर से मस्तिष्क संबंधी रोगों का पता लगाया जाता है । 

इससे मस्तिष्क में उपस्थित रसौली , ब्रेन हेमरेज , मस्तिष्क की नलिकाओं में रुकावट आदि का पता लगाया जाता है । बॉडी स्कैनर से पेट , जिगर , छाती आदि के रोगों का पता लगाया जाता है । यह उपकरण आधुनिक विज्ञान की एक महानतम देन है ।

कैट स्कैनर में एक एक्स - किरण - स्रोत होता है , जिसमें एक घूमने वाला एनोड ( anode ) लगा होता है । इसकी सहायता से एक्स - किरणों को शरीर के किसी भी भाग पर किसी भी कोण से डाला जा सकता है । 

एक्स - किरण - स्रोत के सामने बहुत से डिटेक्टर लगे होते हैं , जो शरीर के विभिन्न हिस्सों से सूचनाएं प्राप्त करते हैं । बीच में रोगी के लिए एक मोटरचालित स्ट्रेचर होता है , जिससे रोगी के अंग - विशेष एक्स - किरणों के सामने लाये जाते हैं । 

डिटेक्टर आमतौर पर सोडियम आयोडाइड , कैल्शियम फ्ल्यूराइड तथा बिस्मथ जर्मीनेट के मणिभों ( crystals ) से बने होते हैं । आधुनिक यंत्रों में 300 डिटेक्टर तक लगे होते हैं । 

कैट स्कैनर ( Cat Scanner ) क्या है ? What is a Cat Scanner?
Process of received data

एक्स - किरण - स्रोत से 2-3 सेकण्ड के अन्तराल से एक्स - किरण का स्पन्द ( pulse ) निकलता है , जो शरीर के विभिन्न ऊतकों ( tissues ) में से गुजरकर डिटेक्टरों पर पड़ता है । 

एक्स - किरणों द्वारा लायी गयी सूचना को डिटेक्टर विद्युत संदेशों में बदल देते हैं । डिटेक्टर का संबंध एक कम्प्यूटर से होता है और ये सन्देश कम्प्यूटर में पहुंच जाते हैं । 

कम्प्यूटर इनका विश्लेषण करता है तथा जटिल गणित सूत्रों ( formula ) का उपयोग करके इन्हें तीन विमाओं ( three dimensional ) वाले चित्र का रूप दे देता है । कम्प्यूटर का संबंध एक टेलीविजन स्क्रीन से होता है । 

कैट स्कैनर ( Cat Scanner ) क्या है ? What is a Cat Scanner?
Processed image

कम्प्यूटर से आने वाले सन्देश विभिन्न ऊतकों के घनत्व ( density ) के अनुसार होते हैं , जो टी.वी. स्क्रीन पर तीन विमाओं वाले चित्र के रूप में उभरते दिखाई देने लगते हैं । 

विभिन्न कोणों पर क्रमवीक्षित ( synchronized ) करने से शरीर के किसी भी अंग - विशेष का चित्र स्क्रीन पर आ जाता है । इसका अध्ययन करके रोग की जानकारी प्राप्त की जाती है । 

टी.वी. स्क्रीन पर उभरने वाले चित्रों को एक्स - किरण - फिल्म के ब्रोमाइड पेपर पर स्थायी रूप से भी चित्रित किया जा सकता है । इस चित्र से चिकित्सक को रोग का तुरन्त पता चल जाता है , जिससे इलाज के लिए आवश्यक कदम उठाये जा सकते हैं । 

इसके 300 डिटेक्टर एक साथ 300 एक्स - किरण - स्पन्दों को प्राप्त करके 300 x 300 = 90,000 सन्देश कम्प्यूटर को प्रेषित करते हैं । इन सभी सन्देशों का कम्प्यूटर द्वारा विश्लेषण किया जाता है , जो चित्रों के रूप में टी.वी. स्क्रीन पर प्राप्त होते हैं । 

कैट स्कैनर की एक और विशेषता यह है कि इससे यह भी पता लगाया जा सकता है कि किसी रोग - विशेष के उपचार के लिए दी जा रही औषधि प्रभावशाली सिद्ध हो रही है या नहीं ? इस बात का पता रोगी के अंग - विशेषों को बार - बार स्कैन करके लगाया जाता है ।

आज संसार के सभी विकसित तथा विकासशील देशों के अस्पतालों में रोग - निदान के लिए कैट स्कैनर प्रयुक्त किये जा रहे हैं । हमारे देश के विभिन्न अस्पतालों में भी हैड स्कैनर तथा बॉडी स्कैनर हैं । 


List of more General Knowledge ( GK ) ~ 

- सभी की उंगलियों के निशान एक से क्यों नहीं होते ?

- हमें सपने क्यों दिखाई देते हैं ?

- मरने के बाद भी आदमी के बाल क्यों बढ़ते रहते हैं ?

- मुर्दा पानी पर क्यों तैरता है ?

- एक्यूपंक्चर ( Acupuncture ) चिकित्सा प्रणाली क्या है?

- टेलीविज़न अंधेरे में तथा नजदीक बैठकर क्यों नहीं देखना चाहिए ?

ऐसे ही अन्य विषयों की रोचक जानकारी के लिए Infarmo.com में विजिट करें ।

Infarmo.com के कुछ प्रमुख पेजेस - 

- कैलोरी ( Calorie ) क्या है और इसे कैसे मापते हैं ? 

- दृष्टि - परीक्षण ( Eye - sight Test ) कैसे किया जाता है ?

- जाड़ों में हमारे हाथ और ओंठ क्यों फट जाते हैं ? 

- वंशानुगत ( Hereditary ) रोग क्या है ? 

- दाद ( Ring - worm ) क्यों हो जाता है ?

- आंख पर चोट लगने से हमें तारे क्यों दिखने लगते हैं ?

- क्या हमारे शरीर में भी कोई घड़ी है ?

- आनुवंशिकी ( Genetics ) क्या है ?

- मेनिंजाइटिस का रोग क्या है ?

- पेसमेकर ( Pacemaker ) हृदय की धड़कन कैसे नियंत्रित करता है ? 

- हमें डकार क्यों आती है ?

- कैट स्कैनर ( Cat Scanner ) क्या है ?

- चेतना क्या है ? 

- शरीर में कोशिकाएं , ऊतक , अंग और तंत्रिका कैसे बनते हैं?  

- क्या हर व्यक्ति के शरीर से एक विशेष गन्ध आती है ?

- दर्द का पता कैसे चलता है ?

- कृत्रिम गर्भाधान ( Artificial Insemination ) क्या है ?

- शरीर के किन अंगों को प्रत्यारोपित ( Transplant ) किया जा सकता है ?

- इन्फ्लुएंजा ( Influenza ) कैसे हो जाता है ?

- हमारे शरीर में खुजली क्यों होती है ? 

- एपेनडिसाइटिस ( Appendicitis ) क्या है ? 

- हमारे शरीर के लिए कौन - से पदार्थ ईंधन का काम करते हैं ?

- इलेक्ट्रोमायोग्राम ( Electromyogram ) क्या होता है ? 

- इलेक्ट्रोरेटिनोग्राम ( Electro - retinogram ) क्या है ?

- पेंक्रिआस ( Pancreas ) शरीर में क्या काम करते हैं ?

- फ्ल्यूराइड ( Fluoride ) से हमारे दांत कैसे मजबूत हो जाते हैं ?

- अधिक कोलेस्ट्रॉल ( Cholesterol ) क्यों हानिकारक है ?

- क्या मनुष्य के शरीर में बिजली पैदा होती है ?

- क्या हम कई बार जन्म लेते हैं ? 

- सन्धिवात ( Arthritis ) रोग क्या है ?


और भी जाने  ~

Human - Body ( Chapter ~ 1 )  

Human - Body ( Chapter ~ 3 ) 

Human - Body ( Chapter ~ 4 )  



Previous
Next Post »