" क्या ये हाई ब्लड प्रेशर का सिरदर्द है ? " "Is this the headache of high blood pressure?"

" क्या ये हाई ब्लड प्रेशर का सिरदर्द है ? " "Is this the headache of high blood pressure?"
high blood pressure? equpment



" क्या ये हाई ब्लड प्रेशर का सिरदर्द है ? "

जीवनशैली के बदलने का असर स्वास्थ्य पर किस तरह पड़ा है , इस बात को तेजी से बढ़ते हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों का आंकड़ा स्पष्ट करता है । हाई ब्लड प्रेशर अब एक आम समस्या हो चली है जो कम उम्र के लोगों को भी तेजी से शिकार बना रही है । दबे पांव आने वाली इस समस्या के लक्षणों को लेकर लोगों के अपने मत हैं और मतभेद भी । सिरदर्द का लक्षण इसमें से एक है । जानिए विज्ञान इस बारे में क्या कहता है ?

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षणों को लेकर लोगों में ढेर सारा असमंजस अब भी है , क्योंकि ये लक्षण कई अन्य समस्याओं से मिलते - जुलते हो सकते हैं । किसी एक लक्षण के आधार पर हाई ब्लड प्रेशर की पहचान हो भी नहीं सकती । कई लोगों में तो इसके लक्षण ब्लड प्रेशर के खतरे की , हद तक बढ़ जाने पर अचानक सामने आते हैं । मतलब बिना किसी लक्षण के ब्लड प्रेशर का स्तर असंतुलित होता रहता है । ब्लड प्रेशर का स्तर क्या है यह जानने के लिए बकायदा ब्लड प्रेशर मॉनिटर की जरूरत होती है । इसलिए जरूरी यह है कि इसके लिए डॉक्टर से जांच नियमित करवाई जाए ।


कई हैं लक्षण -

हाई ब्लड प्रेशर के आम लक्षणों में थकान या फटिग , घबराहट , नॉशिया , सीने में दर्द , देखने में परेशानी , सांस लेने में दिक्कत , अनियमित धड़कन , सीने , गर्दन या कानों में धमक सी महसूस होना , पेशाब में खून आना और सिरदर्द आदि शामिल हैं । इनमें से सिरदर्द को लोग आमतौर पर जल्दी हाई ब्लड प्रेशर से जोड़ देते हैं । सवाल यह है कि क्या हर सिरदर्द हाई ब्लड प्रेशर का संकेत देता है या कि हाई ब्लड प्रेशर के दौरान होने वाला सिरदर्द अलग तरह का होता है ? कई बार लोग हाई ब्लड प्रेशर की वजह से होने वाले सिरदर्द को भी सामान्य समझकर अपने मन से दर्दनिवारक लेते रहते हैं तो कई बार सिरदर्द को हाई ब्लड प्रेशर समझकर घबरा जाते हैं ।


क्या कहते हैं विशेषज्ञ ? 

कई सारे शोध इस सिरदर्द को लेकर किए गए हैं । अधिकांश ने इस बात को स्पष्ट किया है कि हाई ब्लड प्रेशर सिरदर्द की वजह हो सकता है । इरानियन जर्नल ऑफ  न्यूरोलॉजी में प्रकाशित एक शोध रिपोर्ट के अनुसार इस । तरह का सिरदर्द अमूमन सिर के दोनों ओर उभरता है । यह दर्द रह रहकर होता है जैसे कई सिर के भीतर धम - धम् कर रहा हो और किसी भी फिजिकल एक्टिविटी के दौरान और भी बढ़ जाता है । शोधकर्ताओं ने यह भी स्पष्ट किया कि हाई ब्लड प्रेशर की वजह से दिमाग पर अंदरूनी दबाव बढ़ जाता है , जिसके कारण अंदरूनी हिस्से में सूजन आ सकती है और यही दर्द तथा अन्य लक्षणों का कारण बनती है । हालांकि कुछ विशेषज्ञ यह भी मानते हैं कि यह सिरदर्द ब्लड प्रेशर के स्तर के थोड़ा - बहुत ऊपर जाने से नहीं होता । कई बार यह सिरदर्द किसी और वजह से भी लगातार हो सकता है । लेकिन किसी भी स्थिति में इसका इलाज जरूरी है ।


गंभीर स्तर पर पहुचने से पहले -

हाई ब्लड प्रेशर का स्तर गंभीर स्थिति तक बढ़ जाए , उसके पहले सतर्क होना । जरूरी है । इसलिए यदि लक्षण थोड़े भी असामान्य हों तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना आवश्यक है । यदि सिरदर्द के साथ ही बोलने में दिक्कत , चेहरे का गर्म और लाल होना , नाक से खून निकलना , कमजोरी या सुन्नपन , सांस लेने में तकलीफ , सीने में दर्द आदि हो तो सतर्क हो जाएं और तुरंत मदद लें ।


घर में रखें डिजिटल मशीन -

हर सिरदर्द हाई बीपी से जुड़ा हो यह जरूरी नहीं लेकिन इसे लेकर सतर्क रहना आवश्यक है । सिरदर्द यदि सामान्य तरीकों से ठीक न हो तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं । खासतौर पर रिस्क फैक्टर्स के दायरे में आने में आने वाले लोगों के लिए जरूरी है कि वे अपने बीपी के स्तर पर नजर रखें । इस दायरे में विशेषकर धूम्रपान करने वाले , अधिक उम्र वाले , पहले से हाई बीपी के मरीज और ऐसे लोग आते हैं जिनके परिवार में हृदय रोग या हाई बीपी की बीमारी मौजूद हो । 
30 की उम्र के बाद सालाना जांचें , 45 के बाद हर छह माह में जांच और अगर बीपी को संतुलित रखने की दवाएं ले रहे । हों तो हर माह ब्लड प्रेशर की जांच अवश्य कराएं । सबसे बढ़िया है कि घर पर ब्लड प्रेशर की जांच वाली डिजिटल मशीन रखें । अक्सर लोगा । को यह शिकायत होती है कि ये मशीन एक्यूरेट रीडिंग नहीं देती लेकिन ऐसा नहीं है । हो सकता है इसकी रीडिंग एक्यूरेट न हो लेकिन यह आपको एक अनुमान तो दे ही सकती है । इसके आधार पर आप तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क कर सकते हैं ।

Previous
Next Post »