मुँह के छाले [ Pediatric Stomatitis ] के प्रमुख कारण , लक्षण , एव चिकित्सा ? Major causes, symptoms, and therapies of pediatric stomatitis?

मुँह के छाले [ Pediatric Stomatitis ] 



परिचय  प्रायः अस्वच्छता आदि के कारण बालकों की जीभ तथा मुख की श्लेष्मिक कला में छाले पड़ जाते हैं जिससे बालक को कष्ट होता है और वह दूध तक नहीं पी पाता है ।

रोग के प्रमुख कारण  

• अक्सर केन्डिडा एल्बिकान्स नामक । फफूदी या फ्लास के द्वारा । ।  

• चुसनी के प्रयोग से अस्वच्छता के कारण । 

• निपल और दूध की बोतल साफ न रहने से ,

• एण्टीबायोटिक या जीवाणुनाशक औषधियों के प्रयोग से । 

• माँ के स्तनों की अस्वच्छता भी एक सहायक कारण । ।


रोग के प्रमुख लक्षण   

• छोटे , सफेद , असमतल छाले - जीभ , तालु , मसूड़े तथा गालों के भीतरी ओर । । 

• छाले दही के टुकड़ों के समान दिखते हैं । किन्तु इन्हें आसानी से खींचकर नहीं निकाला जा सकता है । जोर से खींचकर निकालने पर रक्तस्राव होने लगता है ।

• इसके द्वारा ग्रासनली ( Oesophagus ) और फेफड़े भी प्रभावित हो सकते हैं । । 

• बालक को दूध पीने में तकलीफ । ।


चिकित्सा  

• निस्टैटिन ( Nystatin ) बोरोग्लिसरीन या 1 % जेन्शन वायलेट ( Gention violet ) को रुई की काड़ी से मुँह में लगावें । 

• चुसनी का प्रयोग बंद कर दें ।

• माँ के स्तनों की सफाई आवश्यक ।


नोट  

• जेन्शन वायलेट को निगलने से बचाने के लिये शिशु को थोड़ी देर मुँह के | बल लिटायें ताकि दवा बाहर की ओर निकल सके । 

• निपिल और दूध की बोतल को पानी में उबाल कर साफ करें ।

Previous
Next Post »