ओंठ का कैंसर [ CANCER OF THE LIPS ] प्रमुख कारन कौन - कौन से है ? इसके क्या समाधान है ? CANCER OF THE LIPS: Who is the leading cause? What is this solution?

ओंठ का कैंसर [ CANCER OF THE LIPS ] 

ओंठ का कैंसर [ CANCER OF THE LIPS ] प्रमुख कारन कौन - कौन से है ? इसके क्या समाधान है ? CANCER OF THE LIPS: Who is the leading cause? What is this solution?


परिचय - ओंठ का कैंसर स्त्रियों की अपेक्षा पुरुषों में तथा ऊपर के ओंठ की तुलना में निचले ओंठ पर बहुतायत से देखा जाता है । चूंकि निचले ओंठ पर प्रक्षोभ होने की सम्भावना अधिक रहती है , इसलिये इस पर कैंसर अधिक हो सकता है ।


रोग के प्रमुख कारण → 

- पहला प्रमुख कारण तम्बाकू का सेवन । पान या चूना में अथवा बीड़ी , सिगरेट या पाइप के रूप में ।

- किसानों या कड़ी धूप में कार्य करने वाले मेहनतकश मजदूरों को भी । 

- गर्द एवं ओस के सम्पर्क में अधिक समय तक रहने से ।


रोग के प्रमुख लक्षण 

- रोग ओंठ के कडे होने से प्रारम्भ । । 

- यदि रोग की शुरूआत ऊपर के ओंठ में हुई तो एक कठोर गाँठ बन जाती है जो काफी उपचार के बाद भी ठीक नहीं होती । । 

- अंत में धीरे - धीरे फूटकर घाव का रूप ले लेती है । 

- यदि शुरूआत या वृद्धि गहराई में स्थित हुई तो केवल ओंठ की मोटाई का ही आभास । । 

- कभी - कभी यह बहुत समय तक ऐसा ही बना रहता है । जब कभी फूट जाता है तो इसकी आकृति गोभी के फूल के समान फैली हुई होती है । 

- कैंसर के किनारे पर्याप्त मोटे एवं समस्राव के लक्षण ।


रोग को पहिचान 

- रोग की पर्याप्त पहिचान लक्षणों के आधार पर । 

- लक्षणों के आधार पर बायोप्सी द्वारा निदान । । 

- ठुड्डी के नीचे गाँठ का आ जाना और इस गाँठ का काफी कठोर होना ही इस बीमारी की सूचना है ।


रोग का परिणाम 

- ऊपर के ओंठ का भावी फल ( Promosis ) उतना अच्छा नहीं होता । जितना कि निचले ओंठ के कैंसर का होता है । 

- पथ्य चिकित्सा - गाय का शुद्ध दूध , गेहूँ , चने एवं मैदे की रोटी , चीनी , मूग , अंजीर , सेब , ताजे फल आदि का सेवन पथ्य है ।


ओंठ के कैंसर की चिकित्सा 

- चिकित्सा रेडियेशन ( Radiation ) एवं शल्य चिकित्सा ( Operation ) द्वारा । । 

- यदि रोग लसीका ग्रन्थियों में नहीं पहुँचा है तो रेडियेशन चिकित्सा से सदा के लिये रोग ठीक हो जाता है ।

- रेडियेशन के पश्चात भी वृद्धि समाप्त न होने पर ऑपरेशन । ऑपरेशन में गाँठ को सदा के लिये बाहर निकाल दिया जाता है । । 

- यदि ये ग्रन्थियाँ हिलती - डुलती हैं अथवा स्थिर हैं तो इन सबको ऑपरेशन द्वारा काटकर निकाल दिया जाता है ।


निचले ओंठ के कैंसर की चिकित्सा संक्षेप में 

- जब कैंसर का आकार छोटा होता है तब ऑपरेशन द्वारा उसे निकाल दिया जाता है । 

- जब उक्त कैंसर का प्रसार व्यापक रूप में हो जाता है तब एक्स - रे चिकित्सा से लाभ । तत्पश्चात -

- प्लास्टिक ट्रीटमेण्ट द्वारा रुण भाग के रूप को ठीक कर देते हैं ।

Previous
Next Post »